अगर मोदी ने वाराणसी में ‘विकास’ किया होता तो वो पाकिस्तान के नाम पर ‘वोट’ नहीं मांग रहे होते

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी दावा कर रहे हैं कि उन्होंने वाराणसी में बहुत विकास किया है। लेकिन वो अपने दो दिवसीय वाराणसी दौरे के दौरान विकास की बात छोड़कर पाकिस्तान का राग अलापने लगे। जिस वाराणसी से चुनाव जीतकर मोदी प्रधानमंत्री बने, उनके पास वाराणसी में ही काम गिनाने के लिए नहीं है। वाराणसी में पीएम मोदी को टक्कर दे रही है समाजवादी पार्टी। पीएम के पाकिस्तान राग पर तीखी प्रतिक्रिया देते हुए सपा नेता सुनील सिंह यादव ने कहा है कि,

“वाराणसी की सूरत बदलने का दावा करने वाले मोदीजी अपनी सीट तक पर पाकिस्तान के नाम पर वोट मांग रहे हैं। यही बताने के लिए पर्याप्त है कि उन्होंने कितना विकास किया है। वाराणसी की आस्था-व्यवस्था और माँ गंगा से खिलवाड़ करने वाले बख्शे नहीं जाएंगे।”

पीएम ने आदर्श ग्राम के तहत ‘जयापुर’ गांव को गोद लिया था, मगर ग्राउंड रिपोर्ट्स में ये सामने आ रहा है कि गांव में न तो साफ़-सफाई है और न कोई ढंग का स्कूल-अस्पताल। गंगा सफाई की बात करने वाले मोदी वाराणसी में ही गंगा को साफ नहीं कर सकें हैं।

वहीं अपनी हर रैली में पीएम पाकिस्तान, आतंकवाद और विपक्ष की तो बात कर रहे हैं। लेकिन जो असल मुद्दे किसान, रोजगार, महंगाई, नोटबंदी, जीएसटी, दो करोड़ रोजगार देना और गंगा सफाई की बात नहीं कर रहे हैं। यानि साफ़ है कि मोदी सरकार ने अबतक कोई ऐसा ठोस काम नहीं किया जिसे लेकर वो जनता के बीच जा सकें।

सोर्स – बोलता हिंदुस्तान